¤ Home » Profile » आयडा एक झलक

आयडा एक झलक

आदित्यपुर औधोगिक छेत्र विकास प्राधिकार इतिहास एवं वर्तमान

आदित्यपुर औधोगिक छेत्र विकास प्राधिकार (आयडा) न सिर्फ भारतवर्ष में बल्कि एशिया के विशालतम औधोगिक छेत्रों में अपना विशिष्ट स्थान रखता है | आदित्यपुर औधोगिक विकास प्राधिकार (आयडा) का गठन आदित्यपुर इंडस्ट्रियल एरिया डेवलपमेंट अथॉरिटी आर्डिनेंस बिहार, द्वारा २९ जून १९७२ को किया गया था | इसका उद्देश्य योजनाबद्ध तरीके से औधोगिक छेत्र का विकास करना है |


आयडा एक झलक

औधोगिक छेत्र / प्रांगण का नाम प्रथम , द्वितीय , तृतीय , चतुर्थ , पंचम , षष्टम , सप्तम , अष्टम ,
चरण , वृहतमान छेत्र , मध्यमान तथा औधोगिक प्रांगण , आवासीय
छेत्र , TAYO एवं TGS, ई.एम्.सी., गंगपुर विद्युत उप केंद्र , रपचा ,
एक्स. आई. टी , आशियाना से ई. इस. आई अस्पताल
कुल अर्जित भूमि 3166.86 एकड़
आधारभूत संरचना में उपयोगित भूमि 345.97 एकड़
2016 तक कुल आवंटित भूमि 2611.14 एकड़
आवंटन हेतु शेष भूमि 159.14 एकड़
कुल आवंटित इकाईयों की संख्या 1249
इकाईयों की अद्यतन स्थिति
कार्यरत1094
बंद 155

आयडा छेत्र में स्थापित उधोगों के प्रकार

  • हेवी / लाईट इंजीनियरिंग ( मशीन / फेब्रिकेशन / प्रेस शॉप )
  • प्लास्टिक एवं रबर इंडस्ट्री
  • मिनरल बेस्ड इंडस्ट्री
  • फेरस इंडक्शन कास्टिंग
  • केमिकल इंडस्ट्री
  • फ़ूड एंड बेवरेज
  • ऑटोमोबाइल / ऑटो बॉडी बिल्डिंग
  • सर्विसेज सेंटर्स
  • फोर्जिंग इंडस्ट्री
  • फार्मास्युटिक्लस इंडस्ट्री
  • स्पंज आयरन इंडस्ट्री
  • एल.पी.जी बॉटलिंग प्लांट

ऊर्जा

उधोग संचालन के लिए निर्वाध विधुत आपूर्ति एक आवश्यक पहलु है | आयडा छेत्र में जे. इस. बी एवं जुस्को पावर दोनों की व्यवस्था की गयी है | उधमी अपनी सुविधानुसार जिस संस्था से चाहें पावर कनेक्शन ले सकते हैं |


आधारभूत संरचना

करीब करीब सभी औधोगिक छेत्रों में पी सी सी सडकों का जाल बिछा दिया गया है | ड्रेनेज एवं सिवरेज सिस्टम दुरुस्त है | इसके रख रखाव पर विशेष ध्यान दिया जाता है |


रौशनी

भारी औधोगिक वाहनों , उधमियों तथा कामगारों के निर्वाध आवागमन हेतु सभी चरणों में पर्याप्त स्ट्रीट लाईट एवं टाटा केन्द्र मुख्य मार्ग पर हाई मास्ट लाईट की व्यवस्था आयडा द्वारा की गई है |


पर्यावरण संतुलन

आयडा द्वारा पर्यावरण संतुलन पर विशेष ध्यान दिया गया है | आयडा छेत्र की पहाड़ियां हरे भरे घने वृछों से आच्छादित है | सभी औधोगिक चरण के सडकों के किनारे एवं डिवाइडर में व्यापक तौर पर वृछारोपण किया जा रहा है | आयडा वाटर हार्वेस्टिंग को बाध्यकारी बनाया गया है |